ज्ञानवापी की तरह कृष्ण जन्मस्थान-ईदगाह का होगा सर्वेक्षण? 21 जुलाई को अदालत सुनाएगी फैसला

वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर से सटी ज्ञानवापी मस्जिद की तरह मथुरा के कृष्ण जन्मस्थान-ईदगाह का सर्वेक्षण होगा या 7 रूल 11 सीपीसी पर बहस होगी। 21 जुलाई को अदालत इस पर फैसला सुनाएगी।श्रीकृष्ण जन्मस्थान और ईदगाह प्रकरण में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मुक्ति न्यास के अध्यक्ष महेन्द्र प्रताप सिंह आदि द्वारा सर्वे कमीशन नियुक्त किए जाने को लेकर सिविल जज सीनियर डिविजन की अदालत में दिए गए प्रार्थना पत्र पर अदालत ने फैसला सुरक्षित कर लिया है। ईदगाह पक्ष द्वारा सेवन रूल इलेवन सीपीसी पर बहस करना चाहता है, जबकि श्री कृष्ण जन्मस्थान पक्ष ऑर्किलॉजिकल सर्वे कराने की मांग कर रहा है। अदालत ने पत्रावली को रिजर्व कर निर्णय के लिए 21 जुलाई की तिथि नियत की है। श्रीकृष्ण जन्मस्थान मुक्ति न्यास के अध्यक्ष महेन्द्र प्रताप सिंह आदि द्वारा सिविल जज सीनियर डिविजन की अदालत में ईदगाह का ऑर्किलॉजिकल सर्वे कराने, अमीन कमीशन नियुक्त किए जाने के प्रार्थना पत्र पर ईदगाह पक्ष द्वारा सोमवार को बहस की। अदालत ने इस पर अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया है।न्यास के अध्यक्ष महेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्होंने अदालत से मांग की थी कि ईदगाह परिसर में मौजूद साक्ष्यों से छेड़खानी कर उन्हें बदले जाने का प्रसास प्रतिवादी पक्ष द्वारा किया जा रहा है। इसलिए वहां अमीन कमीशन नियुक्त किया जाए और ईदगाह परिसर का ऑर्किलॉजिकल सर्वे करा कर साक्ष्य संकलन करा लिए जाएं।मुकदमें के वादी और अधिवक्ता राजेन्द्र माहेश्वरी ने बताया कि वाद संख्या 950-2020 में आज सुनवाई हुई। उनकी मांग थी कि वाद को सर्वे से संम्बधित मामले में लिस्ट किया जाए। प्रतिवादी पक्ष सेवन रूल इलेविन के लिए लिस्ट किए जाने की मांग कर रहा था। अपर अदालत के आदेश की कॉपी उन्होंने अदालत में दखिल कर दी है, जिसमें कहा गया है कि मामले की सुनवाई डे-टू-डे की जाए। इस पर अदालत ने पत्रावली को आर्डर में रिजर्व कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.