अशोक गहलोत की गलती का शशि थरूर को मिलेगा फायदा, 30 सितंबर को नामांकन

अशोक गहलोत के लिए राजस्थान के सीएम के पद का मोह करना भारी पड़ता दिख रहा है। कांग्रेस चुनाव समिति के चेयरमैन मधुसूदन मिस्त्री ने मंगलवार को कहा कि उन्हें जानकारी नहीं है कि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करेंगे या नहीं। इससे साफ है कि अशोक गहलोत को अध्यक्ष बनाने पर अब हाईकमान विचार नहीं कर रहा है। यही नहीं अब सीएम पद को लेकर भी कयास तेज हैं कि नामांकन के बाद हाईकमान कुछ अहम फैसला ले सकता है। ऐसे में यह कहा जाए कि गहलोत की गलती का फायदा शशि थरूर को मिल सकता है तो कुछ गलत नहीं होगा।

मधुसूदन मिस्त्री ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया को लेकर सोनिया गांधी से मुलाकात। इस दौरान उन्होंने सोनिया गांधी को बताया कि अब तक चुनाव को लेकर क्या-क्या तैयारी की गई है। मिस्त्री ने कहा, ‘हमने सोनिया गांधी को बताया कि अब तक चुनाव को लेकर क्या-क्या तैयारी हुई है। चुनाव तय शेड्यूल में ही कराए जाएंगे। अब तक शशि थरूर और पवन बंसल ने ही नामांकन पत्र खरीदे हैं।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कोषाध्यक्ष पवन कुमार बंसल ने अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन पत्र लिया है। शायद वह किसी का समर्थन करेंगे।

वहीं मिस्त्री ने कहा कि शशि थरूर के प्रतिनिधि ने सूचना दी है कि वह 30 सितंबर को सुबह 11 बजे नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा किसी और नेता को लेकर जानकारी नहीं है। अशोक गहलोत के बारे में भी उन्होंने कहा कि वह नामांकन करने वाले हैं या नहीं, इस बारे में कुछ पता नहीं है। इससे साफ है कि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद की रेस से बाहर हो चुके हैं, जिन्हें लेकर कहा जा रहा था कि वह मंगलवार या बुधवार को नामांकन दाखिल कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.