एकनाथ शिंदे पार्टी ही छोड़ गए, शिवसेना के सिंबल पर दावा कैसा; EC में बोला उद्धव ठाकरे गुट

शिवसेना के चुनाव चिह्न धनुष-बाण की लड़ाई फिलहाल चुनाव आयोग के पाले में है। आज चुनाव आयोग में एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे की ओर से सिंबल के लिए दावा ठोके जाने का आखिरी दिन था। इस मौके पर उद्धव ठाकरे ने सिंबल पर दावा ठोका और कहा कि उनका ही गुट इस पर अपना अधिकार रखता है। उद्धव ठाकरे गुट ने आयोग में तर्क रखा कि एकनाथ शिंदे और उनका समर्थन करने वाले नेता खुद ही पार्टी को छोड़ चुके हैं। इसलिए शिवसेना के पार्टी सिंबल पर उनका कोई दावा नहीं बनता है क्योंकि वे तो दल से ही बाहर हैं। एकनाथ शिंदे ने जून में शिवसेना से बगावत कर ली थी और महाराष्ट्र के सीएम बन गए थे।वह अपने साथ शिवसेना के 55 में से 40 विधायकों को लेकर आए थे और करीब एक दर्जन सांसदों का समर्थन भी उन्हें हासिल है। तब से ही एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच पार्टी पर दावेदारी को लेकर भी संघर्ष चल रहा है। फिलहाल तकनीकी तौर पर उद्धव ठाकरे ही शिवसेना के अध्यक्ष हैं, लेकिन एकनाथ शिंदे का कहना है कि उनके साथ ज्यादा नेता हैं, ऐसे में उनका गुट ही असली शिवसेना है। दशहरे के मौके पर दोनों गुटों की ओर से अलग-अलग रैली की गई थी और पुलिस सूत्रों के मुताबिक एकनाथ शिंदे की रैली में करीब दो लाख लोग जुटे थे, जबकि शिवाजी पार्क में एक लाख कार्यकर्ता पहुंचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.