कुछ बड़ा करो, नूपुर शर्मा विवाद के बाद कन्हैयालाल के हत्यारों को पाकिस्तान से आया था आदेश

पैगंबर के अपमान के लिए कथित समर्थन पर उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की हत्या करने के बाद दो आरोपियों रियाज अख्तर और गॉस मोहम्मद को गिरफ्तार किया गया है। अब खुलासा हुआ है कि दोनों आरोपी अजमेर शरीफ दरगाह जाने की योजना बना रहे थे, लेकिन उन्हें राजसमंद के भीम में गिरफ्तार कर लिया गया।

सीएनएन-न्यूज18 ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि मोहम्मद उदयपुर के रियासत हुसैन और अब्दुल रजाक के माध्यम से पाकिस्तान स्थित चरमपंथी धार्मिक समूह दावत-ए-इस्लामी में शामिल हो गया था और 2013 के अंत तक भारत के 30 अन्य लोगों के साथ पाकिस्तान के कराची का दौरा किया था। उनके साथ उदयपुर के दो अन्य लोग वसीम अख्तरी और अख्तर रजा भी थे और 45 दिनों के बाद 1 फरवरी 2014 को लौटे।

सूत्रों ने कहा कि मोहम्मद 2013 और 2019 में दो बार सऊदी अरब और 2017-18 में नेपाल भी गए थे। मोहम्मद ने खुलासा किया कि दावत-ए-इस्लामी पाकिस्तान के चरमपंथी राजनीतिक दल तहरीक-ए-लब्बैक से भी जुड़ा हुआ है। वह कराची में सलमान भाई और अब्बू इब्राहिम के लगातार संपर्क में भी था, दोनों ही दावत-ए-इस्लामी से जुड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.