गांधी परिवार को मनाने का प्रयास? थरूर को अपने हाल पर छोड़ खड़गे के पाले में गया जी-23

कांग्रेस में खुले तौर पर परिवर्तन की मांग करने वाले शशि थरूर को उस समय झटका लगा जब जी-23 के उनके साथियों ने ‘आलाकमान समर्थित’ मल्लिकार्जुन खड़गे को सपोर्ट करने का फैसला किया। कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और के. एन. त्रिपाठी आगे आए हैं। लेकिन कर्नाटक से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ नेता खड़गे स्पष्ट रूप से पसंदीदा उम्मीदवार के तौर पर उभरे हैं। अनौपचारिक रूप से “आलाकमान” समर्थित उम्मीदवार 80 वर्षीय खड़गे ने कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ नामांकन पत्रों के कई सेट जमा किए। उनके प्रस्तावकों में आनंद शर्मा, पृथ्वीराज चव्हाण, मनीष तिवारी और भूपेंद्र हुड्डा जैसे नेता शामिल रहे जो पार्टी में बदलाव की मांग उठाने वाले नेताओं के जी-23 समूह में शामिल हैं। थरूर खुद भी जी-23 में शामिल रहे हैं। उन्होंने नामांकन पत्रों के पांच सेट दाखिल किए। लेकिन उनके साथ जी-23 का कोई नेता नहीं था। जी-23 से कोई भी शशि थरूर के नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए आगे नहीं आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.