जल और गृहकर देने वालों बढ़ सकती है बेचैनी, क्या आपको भी मिला है नगर पालिका का नोटिस?

जल और गृहकर देने वालों की बेचैनी बढ़ सकती है। नगर पालिका ने 1500 लोगों को नोटिस भेजा है। नोटिस मिलने के बाद उपभोक्ताओं में खलबली मची है। दरअसल नगर पालिका के उपभोक्ता 4.25 करोड़ जलकर और गृहकर दबाये बैठे हैं। पालिका ने 1500 उपभोक्ताओं को नोटिस जारी करते हुए 15 दिन के भीतर बकाया कर का भुगतान करने को कहा है। निर्धारित समय के अंदर भुगतान नहीं करने पर राजस्व विभाग के माध्यम से आरसी जारी कराई जाएगी। पालिका वर्ष 2006 से अब तक इन लोगों से टैक्स वसूल नहीं कर सकी और धीरे-धीरे रिकार्ड के हिसाब से 21 हजार लोग 4.25 करोड़ का पानी पी गये।
नगर पालिका ने बकाया वसूली पर जोर देना शुरू कर दिया है। पालिका अफसरों ने पहले तो लंबे समय से गृहकर एवं जलकर न देने वाले लोगों का ब्यौरा निकलवाया, इसके बाद सभी को नोटिस जारी करा दिये हैं। नोटिस दिये जाने वालों में 1500 लोग शामिल हैं। इनमें अधिकांश बकायेदार 10 हजार से ऊपर हैं। इधर, शहर के ही 57 बड़े बकायेदार हैं, जिनपर 57 लाख की देनदारी है। इन बकायेदारों ने कर अधिकारी द्वारा व्यक्तिगत रूप से कहने के बाद भी टैक्स जमा नहीं किया, इसके बाद नोटिस जारी कराये हैं। शहर में जलकर और गृहकर के 26, 000 उपभोक्ता है, जो पालिका द्वारा दी जाने वाली वाटर सप्लाई से अपनी प्यास बुझाते है। इनमें 1500 लोग पानी पीने के बाद भूल गये हैं कि टैक्स भी देना है। नोटिस के बाद भी टैक्स जमा न करने वाले बकायेदारों की आरसी जारी करायी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.