जापान में नेताओं पर फायरिंग सामान्य नहीं, 1990 के बाद से शिंजो आबे 5वें लीडर जिन पर चली गोली

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की शुक्रवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई। देश में 1990 के बाद से लेकर अब तक का यह ऐसा पांचवां मामला है जब किसी नेता को गोली मारी गई है। इससे पहले 2007 में नागासाकी के मेयर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
जापान के राजनीतिक नेताओं पर बंदूक हमलों की सूची में केवल एक अन्य प्रधानमंत्री शामिल हैं। 1994 में पूर्व प्रधानमंत्री होसोकावा मोरिहिरो को दक्षिणपंथी समूह के एक सदस्य ने टोक्यो के एक होटल में गोली मार दी। सौभाग्य से वह घायल नहीं हुए थे।1992 में दक्षिणपंथी समूह के एक सदस्य ने टोचिगी प्रान्त में कार्यक्रम में लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के तत्कालीन उपाध्यक्ष कनेमारू शिन पर गोलियां चला दीं। लेकिन उन्हें भी कोई नुकसान नहीं हुआ था। मालूम हो कि टोचिगी प्रान्त टोक्यो से 108 किमी उत्तर में स्थित है।शिन पर हमले से दो साल पहले यानी कि 1990 में नागासाकी के तत्कालीन मेयर मोटोशिमा हितोशी पर एक दक्षिणपंथी सदस्य ने हमला किया था, जिसमें वो गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.