थानों-तहसीलों में सुनवाई नहीं होने पर करें सख्त कार्रवाई, अफसरों को सीएम योगी का निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को निर्देश दिया कि थाने-तहसीलों में फरियादियों की सुनवाई में लापरवाही पर सख्त कार्रवाई करें। सीएम योगी ने गुरु पूर्णिमा पर बुधवार को व्यस्तता के बावजूद जनता दर्शन में करीब डेढ़ सौ फरियादियों की शिकायत खुद सुनी। उन्होंने मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों को हिदायत दी कि फरियादियों की समस्याओं का गुणवत्ता पूर्ण समाधान करें और उन्हें संतुष्ट करें। सबसे ज्यादा शिकायतें पुलिस और राजस्व विभाग की आईं।

गोरखनाथ मंदिर परिसर के हिन्दू सेवाश्रम में आयोजित जनता दर्शन में सीएम सुबह करीब साढ़े सात बजे पहुंचे। उन्होंने बारी-बारी से करीब डेढ़ सौ फरियादियों के पास पहुंचकर उनकी समस्या सुनी और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। उधर, यात्री निवास में बैठाए गए लोगों की फरियाद सुनने के लिए सीएम ने कमिश्नर, डीएम और एसएसपी को निर्देशित किया। जनता दर्शन में सबसे अधिक शिकायतें पुलिस और भूमि विवाद की पहुंचीं। इस पर सीएम ने सीएम ने अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने अफसरों से कहा कि थानों और तहसीलों का लगातार निरीक्षण करते रहें। लापरवाही मिलने पर सख्त कार्रवाई करें।

बच्चों को दुलारा, दी चाकलेट
जनता दर्शन में कुछ महिलाएं छोटे बच्चों के संग पहुंची थी। सुनवाई के दौरान योगी का ध्यान गोद में बैठे बच्चे पर पड़ा तो वह खुद को रोक नहीं पाए। उन्हों बच्चों को दुलारने के साथ ही चाकलेट भी दी। योगी गोशाला में भी पहुंचे और तकरीबन 20 मिनट तक गो सेवा की। गोशाला में एक कक्ष में रखे गए नंदी के पास भी गए। उसे गुड़ खिलाया। गोशाला के सेवकों को उसका ध्यान रखने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.