दिवाली के बाद भी देश में क्यों नहीं बढ़े कोविड के मामले, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

देश मेंकोरोनाके मामलों में गिरावट जारी है. पिछले 24 घंटे में 501 नए मामले आए हैं. अधिकतर राज्यों में कोविड से हालात सामान्य हैं. एक महीने पहले तक एक्सपर्ट्स आशंका जता रहे थे कि दिवाली के बाद देश में कोविड के मामले बढ़ सकते हैं.

उस दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा था कि ओमिक्रॉन के एक्स-बीबी वेरिएंट की वजह से कुछ देशों में संक्रमण की नई लहर आ सकती है, लेकिन भारत में कोविड के आंकड़ों पर नजर डाले तो दैनिक संक्रमितों की संख्या के साथ पॉजिटिविटी रेट में भी कमी दर्ज की जा रही है.

देश में ओमिक्रॉन के एक्स-बीबी वेरिएंट के मरीजों में भी हल्के लक्षण मिल रहे हैं. इस वेरिएंट को कई राज्यों में फैले हुए करीब एक महीने का समय बीत गया है. इसके बावजूद भी फिलहाल किसी राज्य में कोविड के नए मामलों में इजाफा नहीं देखा जा रहा है. दीवाली को बीते हुए भी तीन सप्ताह का समय गुजर चुका है, लेकिन एक्सपरर्ट्स का आंकलन गलत साबित हो रहा है. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि देश में दिवाली के बाद भी कोविड के केस काबू में क्यों हैं. आइए जानते हैं कि इस बारे में एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं.

कम टेस्ट की वजह से कोविड काबू में दिख रहा

दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल के कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के एचओडी प्रोफेसर डॉ जुगल किशोर ने Tv9 भारतवर्ष से बातचीत में बताया,” देश में कोरोना का वायरस और इसके अलग-अलग वेरिएंट मौजूद हैं, लेकिन फिलहाल सभी वेरिएंट्स में काफी हल्के लक्षण हैं, लोगों को केवल खांसी, जुकाम और हल्के बुखार की शिकायत हो रही है. संक्रमण के लक्षण हल्के होने की वजह से लोग कोविड टेस्ट भी नहीं करा रहे हैं. पहले की तरह अब कोरोना की टेस्टिंग नहीं की जा रही है. यही कारण है कि संक्रमण के मामले कम दिख रहे हैं, लेकिन अगर व्यापक स्तर पर टेस्टिंग की गई तो केस फिर से बढ़ते दिखेंगे”

क्या लक्षण दिखने पर सभी को कराना चाहिए कोविड टेस्ट

डॉ किशोर कहते हैं कि जरूर नहीं है कि कोविड के लक्षण दिखने पर टेस्ट कराएं.कोविड जांच तभी करें जब लक्षण ज्यादा दिनों तक रहें. या फिर अगर पहले से ही कोई गंभीर बीमारी है तो जांच कराना जरूरी है. बुजुर्ग मरीजों को भी सलाह दी जाती है कि वे कोविड के लक्षण दिखने पर टेस्ट करा लें और अपना इलाज कराएं. क्योंकि अगर लक्षण बढ़ गए तो बुजुर्ग मरीजों को खतरा होने की आशंका रहती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.