देश ने खामोश राष्ट्रपति देखा है, गहलोत एक बार दिखा सकते हैं जादूगरी

यूपीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा कि गहलोत साहब ने मुझे ऐसे संकेत दिए है कि एक बार फिर अपनी जादूगरी दिखा सकते हैं। देश ने खामोश राष्ट्रपति देखा है। राष्ट्रपति भवन में खामोशी को दौर है। कम से कम राष्ट्रपति को बुलाकर प्रधानमंत्री की चर्चा कर सकते थे। मुझे लगता है कि कर्तव्य की पूरी तरह से पालना नहीं हुई है। यशवंत सिन्हा ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी की स्थिति पर दया आती है। यशवंत सिन्हा आज समर्थन जुटाने के लिए राजधानी जयपुर आए। यशवंत सिन्हा ने एक निजी होटल में मीडिया से बात की। यशवंत सिन्‍हा ने पूरा जोर इस बात पर दिया कि मौजूदा हालात में ऐसा राष्‍ट्रपति चाहिए जो सरकार को मनमानी करने से रोक सके।
डोटासरा बोले- राज्यसभा चुनाव से ज्यादा वोट मिलेंगे
इस अवसर पर सीएम अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद रहे। डोटासरा ने कहा कि राजस्थान में यशवंत सिन्हा को अच्छे मत मिलेंगे। राजस्थान से विजयश्री मिलेगी। राज्यसभा चुनाव की तरह ही कांग्रेस तय वोट से ज्यादा वोट हासिल करेगी। सीएम गहलोत ने एयरपोर्ट पर यशवंत सिन्हा ने स्वागत किया।
कांग्रेस विधायक दल की हुई बैठक
 कांग्रेस पार्टी ने आज शाम 6 बजे कांग्रेस और कांग्रेस समर्थित विधायकों की विधायक दल की बैठक भी बुलाई। जिसमें यशवंत सिन्हा को समर्थन देने का निर्णय लिया गया। उल्लेखनीय है कि 5 जुलाई को भी यशवंत सिन्हा का जयपुर आने का कार्यक्रम  बना था, लेकिन तबीयत ठीक नहीं होने के चलते अपना कार्यक्रम स्थगित कर दिया था। राजस्थान में सियासी उलटफेर नहीं हुआ तो यशवंत सिन्हा को 126 विधायकों और 6 राज्यसभा सांसदों के वोट मिलेंगे। हालांकि आदिवासी हितों की बात करने वाली भारतीय ट्राइबल पार्टी आदिवासी राष्ट्रपति के उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में जाते हैं या फिर एनडीए के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के पक्ष में यह फिलहाल स्पष्ट नहीं हो पाया है। लेकिन सब कुछ ठीक रहा तो यशवंत सिन्हा को राजस्थान के 126 विधायकों के 16,254 वोट और 6 सांसदों के 4200 वोट मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.