भाजपा से दिखा रहे कट्टर दुश्मनी, फिर विपक्षी एकता से अलग क्यों दिख रहे अरविंद केजरीवाल; क्या प्लानिंग

बिहार के सीएम नीतीश कुमार इन दिनों देश भर के नेताओं से मिल रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की। इस दौरान जेडीयू नेता संजय झा और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे। मीटिंग के बारे में बहुत ज्यादा डिटेल सामने नहीं आई है, लेकिन जिस तरह का घटनाक्रम दिख रहा है, उससे ऐसा लगता है कि आम आदमी पार्टी विपक्षी एकता की कवायद से दूर ही रहने वाली है। नीतीश कुमार ने मंगलवार शाम को ही इनेलो के मुखिया ओमप्रकाश चौटाला से मीटिंग की थी। इसके बाद पता चला कि हरियाणा में देवीलाल की जयंती पर एक बड़ा आयोजन होने वाला है।इस रैली में नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी और प्रकाश सिंह बादल समेत विपक्ष के तमाम नेता आ रहे हैं। कांग्रेस को इस रैली से दूर रखा गया है और गैर-भाजपा एवं गैर-कांग्रेसी दलों की एकजुटता की कोशिश की जा रही है। इस लिहाज से आम आदमी पार्टी को भी इसका हिस्सा होना चाहिए था, लेकिन वह अलग ही दिख रही है। अब तक जिन नेताओं के रैली में जाने की बात हुई है, उनमें अरविंद केजरीवाल शामिल नहीं है। इससे पहले उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर हुई बैठकों से भी आप दूर ही दिख रही थी। ऐसे में यह सवाल जरूर उठता है कि आखिर अरविंद केजरीवाल की पॉलिटिक्स क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.