भारत के गुनाहगार को बचा रहा है चीन? चीनी राजदूत सुन वीडांग ने दिया यह जवाब

क्या चीन भारत के गुनाहगार को बचा रहा है? इस सवाल के जवाब में चीनी राजदूत ने चौंकाने वाला जवाब दिया। उन्होंने कहा कि चीन को आतंकी की डेजिग्नेशन के बारे में जानने के लिए और ज्यादा समय चाहिए। असल में चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी अब्दुल रऊफ असगर को ब्लैक लिस्ट किए जाने पर तकनीकी पेंच फंसा दिया है। चीनी राजदूत से इसी को लेकर सवाल पूछा गया था।
हाइजैकिंग का मास्टरमाइंड रहा है असगर
असल में अब्दुल रऊफ असगर 1998 में इंडियन एयरलाइंस के फ्लाइट संख्या 814 की हाइजैकिंग का मास्टरमाइंड रहा है। चीन ने संयुक्ट राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उसको ब्लैकलिस्ट किए जाने पर अड़ंगा लगा दिया है। चीनी राजदूत से इसी को लेकर सवाल पूछा गया था। उन्होंने आगे कहा कि इस बारे में फैसले के लिए प्रक्रिया जारी है। साथ ही यह भी दावा किया कि चीन हर तरह के आतंकवाद का विरोध करता है।
सीमा पर संदिग्ध हरकतों पर यह बोले
बीते कुछ वक्त में भारतीय सीमा पर चीन की हरकतें संदिग्ध रही हैं। इसको लेकर चीनी राजदूत ने दावा किया है कि भारतीय सीमा पर उसकी सभी गतिविधियां समझौतों के दायरे में रही हैं। गौरतलब है कि एलएसी पर चीनी विमानों की संदिग्ध गतिविधियों की बातें हाल के दिनों में कई बार सुनने में आई हैं। इसके मुताबिक लद्दाख में चीन के विमानों ने भारतीय सैनिकों के करीब से उड़ान भरी थी। भारत में चीनी राजदूत सुन वीडांग ने इसको लेकर ही सफाई दी है।भारतीय छात्रों पर कही यह बात
क्या भारतीय छात्र वापस चीन पढ़ने जाएंगे? इस पर चीनी राजदूत सुन वीडांग ने कहा कि उनका देश सभी भारतीय छात्रों का स्वागत करता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही भारतीय छात्र चीन में अपनी अधूरी पढ़ाई शुरू कर सकेंगे। सुन वीडांग ने कहा कि दोनों देशों के संबंधित विभाग इस दिशा में काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.