मैं आज भी ह‍िंंदू हूं, मुझसे कहा भी जाता तो शादी के बाद धर्म नहीं बदलती: स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को कहा कि उन्हें हिंदू होने पर गर्व है। अगर उनसे कहा जाता तो भी वह अपना धर्म परिवर्तन (Conversion) नहीं करतीं। टाइम्स नाउ समिट 2022 में मेजबान एंकर ने स्मृति ईरानी (Smriti Irani) से जब उनके धर्म के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, “मैं ईरानी सरनेम के साथ एक प्राउड हिंदू हूं।” स्मृति ईरानी से पूछा गया कि शादी के बाद आप हिंदू हैं या पारसी? केंद्रीय मंत्री ईरानी ने जवाब द‍िया, “देखिए पारसी धर्म में धर्मांतरण नहीं होता। और धर्मांतरण होता तो भी, मैं गर्व से हिंदू हूं और मैं अपना धर्म नहीं बदलती।” बता दें क‍ि स्‍मृृृत‍ि के पत‍ि पारसी हैं।
क्या धर्म पूछ कर बनाई जा रही सड़क?
केंद्रीय मंत्री ने विपक्ष के दावों का भी खंडन किया कि भाजपा बहुसंख्यकवाद (Majoritarianism) की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत (Aayushmaan Bharat) और 80 करोड़ भारतीयों को मुफ्त राशन वितरण जैसी केंद्र सरकार की योजनाएं किसी विशेष धर्म के लोगों को कोई तरजीह नहीं दे रही हैं। उन्होंने कहा, “क्या आपको कभी पता चला कि हॉस्पिटल में एडमिशन हिंदू का हुआ या पारसी, जैन और बौद्ध का हुआ। क्या जल जीवन मिशन के तहत नल का पानी देने से पहले देखा जा रहा है कि वह किसके घर में जा रहा है।”केंद्रीय मंत्री ने सवाल किया, “क्या सड़क जो पीएम मोदी बना रहे हैं पूछ रहे हैं कि आप किस धर्म के हैं?” उन्होंने आगे कहा, “क्या बिजली की तार जो जा रही है तो उसमें करंट यह देख कर जा रहा है कि वह किसके घर में जा रहा है।”स्मृति ईरानी ने कहा, “जब सेवा आपकी निर्णय लेने की प्रक्रिया पर केंद्रित होती है, तो आप जो कुछ भी करते हैं उसके प्रति बेहद सचेत रहते हैं और आप अपनी क्षमता के अनुसार सेवा करने की उम्मीद करते हैं।” उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पहले दिन से यह सुनिश्चित किया है कि यह सरकार सेवा के बारे में है और सत्ता के बारे में नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.