यूक्रेन युद्ध के बाद पहली बार रूस जा रहे विदेश मंत्री जयशंकर, पुतिन को मना पाएंगे?

यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद से पहली बार भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर रूस की यात्रा पर जा रहे हैं। रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा ने कहा कि यूक्रेन युद्ध के बाद से रूस की अपनी पहली यात्रा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव के साथ बातचीत करेंगे। मंत्री 8 नवंबर को मास्को में वार्ता करेंगे जहां वे द्विपक्षीय संबंधों की वर्तमान स्थिति और अंतर्राष्ट्रीय एजेंडे पर चर्चा करेंगे। जयशंकर की प्रस्तावित यात्रा पर विदेश मंत्रालय की ओर से अभी कोई बयान नहीं आया है।करीब दो सप्ताह पहले क्रीमिया में एक बड़े विस्फोट के बाद रूस और यूक्रेन में नए सिरे से टकराव शुरू हो गया है। रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जाखारोवा ने कहा, ‘‘रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव आठ नवंबर को मॉस्को में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ बातचीत करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दोनों मंत्री द्विपक्षीय संबंधों की मौजूदा स्थिति और अंतरराष्ट्रीय एजेंडे पर चर्चा करेंगे।’’अमेरिका सहित पश्चिमी देश भी भारत की ओर इस उम्मीद से देख रहे हैं कि वह रूस पर दवाब डालकर यूक्रेन युद्ध को खत्म कराने का प्रयास करे। जयशंकर की रूस यात्रा भी इसी उम्मीद के साथ देखी जा रही है। हालांकि अभी तक भारत की तरफ से बयान नहीं आया है। वैसे रूसी बयान के मुताबिक जयशंकर का राष्ट्रपति पुतिन के साथ मुलाकात का कोई प्लान नहीं है। लेकिन इस बात की उम्मीद लगाई जा सकती है कि भारत रूसी विदेश मंत्री को एक बार फिर से साफ लहजों में कह सकता है कि ‘यह दौर युद्ध का नहीं है।’ सर्गेई लावरोव के साथ द्विपक्षीय बैठक में जयशंकर पुतिन के लिए संदेश भिजवा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.