लखीमपुर खीरी कांड: पहले बड़ी का कत्ल, शोर मचाने पर छोटी को भी मार डाला 

लखीमपुर खीरी के निघासन कांड को लेकर पुलिस ने कई चौंकाने वाले तथ्य सामने रखे। पुलिस ने इस मामले में छह आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी जुनैद की गिरफ्तारी के दौरान पुलिस से मुठभेड़ हुई। उसके पैर में गोली लगी है। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस को जो बताया उसने न केवल पुलिस को हैरान और परेशान किया बल्कि गांव वालों के भी मानो रोंगहटे खड़े हो गए। पुलिस का दावा है कि दो आरोपियों ने मिलकर दोनों बहनों से रेप किया। जबकि तीन ने मिलकर हत्या की और साक्ष्य मिटाने के लिए शवों को लटकाने में दो आरोपी और शामिल रहे।निघासन थाना क्षेत्र में बुधवार की शाम दो दलित नाबालिक सगी बहनों के शव दुपट्टे के सहारे पेड़ से लटके हुए पाए गए थे। परिजनों ने रेप और मर्डर का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे में एक गांव का छोटू नामजद था। जबकि तीन अज्ञात थे। मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू की। मामले का खुलासा करने के लिए चार टीमें बनाई गईं। आईजी लक्ष्मी सिंह खुद इस केस की पड़ताल कर रही थीं। इस बीच पुलिस ने छोटू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने पांच युवकों के नाम बताए। इसके बाद रात में ही पुलिस ने सुहेल, हफीजुर रहमान, करीमुद्दीन और आरिफ को गिरफ्तार कर लिया। जुनैद भाग गया था। उसकी गिरफ्तारी के वक्त मुठभेड़ हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.