सोनाली फोगाट को आरोपियों ने दी थी मेथामफेटामाइन नामक ड्रग, गोवा पुलिस का दावा

बीजेपी की नेता सोनाली फोगाट की मौत मामले में शनिवार को पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। गोवा पुलिस ने कहा है कि सोनाली फोगाट की मौत से पहले उनको रेस्टोरेंट में आरोपियों ने ‘मेथामफेटामाइन’ नामक ड्रग दिया था। पुलिस ने इस मामले में अब तक फोगाट के निजी सहायक सुधीर सांगवान, एक अन्य सहयोगी सुखविंदर सिंह, रेस्टोरेंट के मालिक एडविन न्यून्स और कथित ड्रग तस्कर दत्ता प्रसाद गांवकर को गिरफ्तार किया है।पुलिस उपाधीक्षक जीवबा दलवी ने कहा कि अंजुना के कर्लीज रेस्तरां में फोगाट जो मादक पदार्थ दिया गया था, उसके बचे हुए हिस्से को रेस्टोरेंट के वॉशरूम से जब्त किया गया है। दलवी ने कहा, ‘फोगाट को जो मादक पदार्थ दिया गया, उसे मेथामफेटामाइन के रूप में पहचाना गया है।’ सहयोगी सिंह और सांगवान पर हत्या के आरोप में जबकि गांवकर और न्यून्स के खिलाफ एनडीपीएस अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।
गांवकर ने सांगवान को ड्रग की आपूर्ति की थी
गांवकर ने कथित तौर पर सिंह और सांगवान को ड्रग की आपूर्ति की थी। गांवकर अंजुना के उस होटल का कर्मचारी है, जहां फोगाट ठहरी थीं। पूर्व टिकटॉक कलाकार और रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ के 14वें सत्र की प्रतिभागी रहीं फोगाट की गोवा आने के एक दिन बाद 23 अगस्त को मौत हो गई थी। पुलिस इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.