राष्ट्रपति के चुनावी रेस में शामिल हुए लालू प्रसाद यादव, नामांकन पत्रों की हो रही जांच

Lalu Prasad Yadav Presidential Candidate: देश में राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) को लेकर चर्चा चल रही है. एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू और संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा, जो देश के अगले राष्ट्रपति होंगे, के बीच इस सवाल को लेकर राजनेताओं से लेकर आम जनता तक में उत्सुकता है. हालांकि, इन दिनों राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) लड़ने वाले उम्मीदवारों में जिस नाम की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, वह है ‘लालू प्रसाद यादव’ ।

दरअसल, राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) 2022 में कुल 115 नामांकन दाखिल किए गए हैं, जिनमें द्रौपदी मुर्मू और यशवंत सिन्हा के नाम शामिल हैं। इन 115 नामों में एक प्रत्याशी का नाम लालू प्रसाद यादव भी है. हालांकि, यह लालू राजद के लालू प्रसाद यादव नहीं हैं जो बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

मुंबई के एक झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लालू प्रसाद यादव उन लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने देश के शीर्ष संवैधानिक पद के चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल किया है। इनके अलावा तमिलनाडु के एक सामाजिक कार्यकर्ता के साथ-साथ दिल्ली के एक प्रोफेसर भी राष्ट्रपति बनने की दौड़ में शामिल होना चाहते हैं।

इस नियमावली के तहत राष्ट्रपति चुनाव लड सकते है उम्मीदवार

हालांकि, नियमों के अनुसार, राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) के लिए किसी भी उम्मीदवार का नामांकन तब खारिज कर दिया जाएगा, जब उसे संसद और विधान सभाओं के सदस्यों से बने निर्वाचक मंडल के 50 प्रस्तावकों और 50 समर्थकों द्वारा समर्थित नहीं किया जाता है।

दूसरी ओर, यदि कोई उम्मीदवार ₹ 15,000 का नकद भुगतान नहीं करता है या भारतीय रिजर्व बैंक या सरकारी खजाने में जमा की गई राशि को दर्शाने वाली रसीद प्रस्तुत नहीं करता है, तो नामांकन भी खारिज कर दिया जाएगा।

राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) के लिए आज नामांकन पत्रों की जांच की जा रही है और शाम तक अंतिम उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाएगी। अब लालू प्रसाद यादव चुनाव लड़ पाएंगे या नहीं ये तो शाम तक साफ हो जाएगा, लेकिन उनका नाम खूब सुर्खियां बटोर चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.