अब ठाकरे फैमिली में ही तेरा बेटा-मेरा बेटा पर रार

शिवसेना में छिड़ी आपसी कलह के बीच ठाकरे फैमिली में भी लड़ाई कड़वाहट की हदें पार कर रही है। राज ठाकरे की ओर से पिछले दिनों कहा गया था कि शिवसेना में फूट के लिए एकनाथ शिंदे गुट या फिर किसी और का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा था कि इसके लिए उद्धव ठाकरे पूरी तरह से जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा था कि असली शिवसेना का अंत बालासाहेब ठाकरे के जाने के बाद ही हो गया था। उद्धव ठाकरे की मौजूदा शिवसेना का बालासाहेब के विचारों से कोई लेना-देना नहीं है। अब इस पर शिवसेना की ओर से पलटवार किया गया है और लड़ाई तेरा बेटा-बेटा के लेवल पर आ गई है।
राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे पर उठाया सवाल
शिवसेना नेता मनीषा कायंडे ने मनसे को करारा जवाब दिया है। वह सोमवार को मुंबई में मीडिया से बात कर रही थीं। मनीषा कायंडे ने सवाल उठाया कि राज ठाकरे अपने ही बेटे को राजनीति में क्यों आगे लेकर आए। संदीप देशपांडे को आगे क्यों नहीं लाए। अब देखना होगा कि मनीषा के सवाल पर मनसे के नेता क्या रिएक्शन देते हैं। यही नहीं उन्होंने सवाल उठाया कि क्या एकनाथ शिंदे सच में मुख्यमंत्री हैं? क्या वे वास्तव में मुख्यमंत्री हैं या सिर्फ नाम के सीएम हैं? कायंडे ने यह भी सवाल उठाया कि अगर वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं तो दिल्ली में बीजेपी की बैठक में देवेंद्र फडणवीस कैसे मौजूद हैं?शिवसेना की नेता मनीषा कायंडे ने राज ठाकरे पर हमला बोलते हुए कहा है कि आखिर वह अपने बेटे अमित ठाकरे को ही क्यों आगे लेकर आए हैं। बता दें कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की युवा इकाई की जिम्मेदारी अमित ठाकरे के पास है। राज ठाकरे के बाद पार्टी में उन्हें ही दूसरे नंबर का लीडर माना जाता है। दरअसल राज ठाकरे के ट्वीट के बाद मनसे नेता संदीप देशपांडे ने भी ट्वीट कर यह रेखांकित करने की कोशिश की कि राज ठाकरे बालासाहेब ठाकरे के असली राजनीतिक उत्तराधिकारी हैं। मनसे की इस आलोचना का अब शिवसेना जवाब दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.