कन्हैया लाल मर्डर केस में चश्मदीद ने किया चौकाने वाला खुलासा

कन्हैया लाल हत्या (kanahiya Lal) के दौरान मौजूद चश्मदीद ने चौकाने वाला खुलासा किया है। राजकुमार शर्मा कन्हैया लाल के दुकान पर ही काम करते थे। उन्होंने मीडिया को बताया कि दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद कपड़े सिलने के बहाने दुकान में घुसे थे. लेकिन उसने अचानक हमला कर दिया। कन्हैया लाल मदद के लिए चिल्लाते रहे। लेकिन बाहर से कोई उसकी मदद के लिए नहीं आया। राजकुमार शर्मा ने आजतक से खास बातचीत की. उन्होंने बताया कि दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद बाइक से आए थे.

उसने दुकान के सामने बाइक नंबर 2611 खड़ी की थी। कन्हैया लाल, ईश्वर और मैं दुकान के अंदर थे तभी दोनों आरोपी दुकान में घुसे। दोनों आरोपी कपड़े सिलने के बहाने दुकान में घुसे थे। राजकुमार शर्मा के मुताबिक दोनों आरोपियों ने अचानक हमला कर दिया. हम चिल्लाए, बाहर से मदद मांगी। लेकिन मदद के लिए कोई नहीं आया। उन्होंने बताया, मैंने हमलावरों में से एक पर हमला किया।

ईश्वर ने भी भागने की कोशिश की, लेकिन तभी एक आरोपित ने उस पर हमला कर दिया। इससे वे घायल हो गए। चश्मदीद ने कहा, हमारे बुलाने के बावजूद बाहर से कोई मदद के लिए नहीं आया। इसके बाद दोनों आरोपित बाइक छोड़कर फरार हो गए। उन्होंने बताया कि कन्हैया लाल को लगातार धमकियां मिल रही थीं. कुछ मुसलमानों ने उसकी फोटो वाट्सएप ग्रुप पर डाल दी।

राजकुमार शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले बुर्का पहने एक पुरुष और एक महिला दुकान पर आए थे। उन्होंने उसे गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। राजकुमार शर्मा ने कहा कि जो हुआ उसके बाद उसे कहीं नौकरी नहीं मिलेगी। शर्मा ने बताया कि उन्हें कोई आर्थिक मदद भी नहीं मिली है I

कन्हैया लाल पर किया गया धारदार हथियार से हमला

उदयपुर (udaypur) में मंगलवार दोपहर दो युवकों मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने टेलर कन्हैयालाल की धारदार हथियार से हमला कर हत्या का दी थी. आरोपी कपड़े सिलवाने के बहाने दुकान पर आए थे. इसके बाद दोनों आरोपियों ने वीडियो शेयर कर कहा था कि उन्होंने इस्लाम के अपमान का बदला लेने के लिए कन्हैयालाल की हत्या की है. इतना ही नहीं आरोपियों ने पीएम मोदी को भी धमकी दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.