योगी सरकार का बडा फैसला, बढाई गई बच्चों के अभिभावकों की राशि

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने मंगलवार को एक अहम फैसला लेते हुए प्राथमिक विद्यालयों के कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों के अभिभावकों को दी जाने वाली राशि में वृद्धि की है. यूपी कैबिनेट (Yogi Adityanath Government) की बैठक में तय हुआ कि इस बार 1100 रुपये से 1200 रुपये तक डीबीटी के जरिए दिया जाए. अब इस राशि से स्टेशनरी का सामान भी खरीदा जा सकेगा।

यूपी कैबिनेट (Yogi Adityanath Government) की मंगलवार को हुई बैठक में छह अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी गई, जिसमें बच्चों के लिए स्कूल ड्रेस और स्टेशनरी की फीस बढ़ाना शामिल है. अब तक स्कूली बच्चों को दो जोड़ी यूनिफॉर्म, एक स्वेटर, एक स्कूल बैग, एक जोड़ी जूते, दो जोड़ी मोजे के लिए 1100 रुपये की राशि दी जाती थी। अब 1200 रुपये दिए जाएंगे जिसमें इन सामानों के अलावा स्टेशनरी के लिए भी पैसे दिए जाएंगे। स्टेशनरी में चार नोटबुक, दो पेंसिल, दो रबड़ और दो कटर शामिल होंगे। इन वस्तुओं को खरीदने के लिए अतिरिक्त 100 रुपये दिए जाएंगे।

शैक्षणिक सत्र 2022-23 में मंत्रिपरिषद ने प्रदेश के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए यूनिफार्म, स्वेटर, जूता मोजा, ​​स्कूल बैग एवं स्टेशनरी की राशि अभिभावकों के खाते में भेजी. बिना रसीद का इंतजार किए पूरी राशि भेजने के निर्णय को मंजूरी दी। इससे सभी छात्रों को यूनिफॉर्म, स्वेटर, जूता-मोजा, ​​स्कूल बैग और स्टेशनरी के लिए समय से राशि उपलब्ध हो जाएगी.

बता दें कि वर्तमान में केंद्र और राज्य सरकार के बजट से कक्षा एक से आठ तक के छात्रों को मुफ्त यूनिफॉर्म और राज्य सरकार के बजट से जूते-चप्पल, स्वेटर, स्कूल बैग मुफ्त देने का प्रावधान है. . शैक्षणिक वर्ष 2021-22 में प्रदेश में अभिभावकों को नि:शुल्क यूनिफॉर्म, स्वेटर, जूता मोजा व स्कूल बैग की राशि भेजी गई। इस योजना का लाभ लेने वाले छात्रों की संख्या 1,56,28,171 है। शैक्षणिक वर्ष 2022-23 में दो करोड़ छात्रों को लाभान्वित करने का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.