योगी कैबिनेट को लगा झटका, राज्यमंत्री ने दिया इस्तीफा

योगी आदित्यनाथ सरकार में जल शक्ति राज्य मंत्री दिनेश खटीक Dinesh Khatik ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कहा कि मैं दलित और पिछड़े वर्गों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार से जुड़ा था। लेकिन इस सरकार में उनकी उपेक्षा की जा रही है. दलितों और पिछड़ों का अपमान किया जा रहा है। दलित समुदाय के राज्य मंत्री होने के नाते मेरे किसी भी आदेश पर कोई कार्रवाई नहीं होती है. इसलिए मैं अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में तबादलों में हो रही अनियमितताओं से कुछ विभागों में हड़कंप मच गया है और इसी बीच जल शक्ति विभाग में अंदरूनी खींचतान की बात सामने आई है. योगी सरकार में जल शक्ति राज्य मंत्री दिनेश खटीक के इस्तीफे की बात चल रही थी. बताया गया है कि वह विभागीय अधिकारियों की उपेक्षा से नाराज थे. वरिष्ठ मंत्री से अधिकारों के टकराव की भी बात चल रही है.

मेरठ की हस्तिनापुर सीट से लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए दिनेश खटीक Dinesh Khatik को योगी सरकार 1.0 की तरह इस सरकार में राज्यमंत्री बनाया गया है. उन्हें कैबिनेट मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के साथ जल शक्ति विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मंगलवार शाम को दिनेश खटीक Dinesh Khatik के इस्तीफे की खबर इंटरनेट मीडिया और चैनलों पर छाई रही। सूत्रों के मुताबिक, वह अधिकारियों की एक न सुनने से नाराज था। साथियों पर भी गंभीर आरोप लगाए गए। इस संबंध में मंत्री को बुलाया गया, लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ था। हालांकि दोपहर में जब सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों के साथ बैठक की तो वह उसमें भी नहीं दिखे. पता चला कि जल शक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने सोमवार को राजधानी के किसान भवन में ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. इसमें राज्य मंत्री खटीक Dinesh Khatik पहुंचे थे, लेकिन बैठक को बीच में ही छोड़ दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.